लेखक

नमस्ते दोस्तों , इस ब्लोग की लेखक (लेखिका) है सांईक्या उर्फ संगीता। पेशे से एक चिकित्सक (डांक्टर) और शौक से लेखिका।

सांई बाबा मेरे जीवन में आ तो बचपन से गए थे पर मैं उन्हें आज से लगभग 11 साल पहले 2009 में जान पाई।

सांई बाबा ने मेरे जीवन में अद्भुत बदलाव लाएं हैं । उन के साथ हुएं अनुभव कुछ शब्दों में समेटे तो नहीं जा सकते पर मेरा मकसद इन अनुभवों को सभी सांई भक्तों तक पहुंचाना तब बना जब मैं ने पीछे मुड़ कर देखा और पाया कि कैसे सांई के बारे में लिखने वाले भक्तों ने मेरे अंधेरे पलों में मुझे रोशनी देने का काम किया।

अगर आप अपने अनुभव सबसे बांटना पसंद करते हैं तो मुझे जरूर लिखें👉 मेरे ई-मेल पर । और अपने तरीके से सांई का प्यार सबसे बाांटते रहें।

और ध्यान रखें यह मुस्कान धुंधली ना होने पाएं।😇

आप मुझे फोलो (follow) कर सकते हैं 👇

इन्स्टाग्राम पर या

फेसबुक पर

हिन्दी पोस्ट पढ़ें !

ऊं सांई श्री साईं जय जय साईं।😇